टीचर हैं तो क्या हुआ, फाइनेंशियल प्लानिंग करना तो, बनता है बॉस

एक समय था जब समाज को शिक्षित बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के बावजूद सैलरी के मामले में टीचर्स की स्थिति अच्छी नहीं थी, लेकिन अब ऐसी बात नहीं है। अब टीचर्स भी अच्छी-खासी सैलरी पा रहे हैं। हालांकि इसमें कुछ अपवाद हो सकता है। सैलरी आकर्षक तो हुई ही है, साथ ही अब टीचर्स कारोबार के क्षेत्र में भी हाथ आजमा रहे हैं खासकर कोचिंग-क्लासेस में।
लेकिन, टीचर भी एक इंसान है और उसे भी दूसरे इंसानों की तरह जिंदगी में अलग-अलग समय में अलग-अलग चीजों की जरूरत पड़ती है। इसलिए, टीचर को भी फाइनेंशियल प्लानिंग की जरूरत ठीक उसी तरह है, जैसा कि दूसरे इंसान को और म्युचुअल फंड इसमें काफी हद तक मदद कर सकता है।
टीचर के लिए फाइनेंशियल प्लानिंग क्यों
-रोजाना, मासिक, तिमाही या सालाना खर्च के लिए
-कोचिंग-क्लास खोलने के लिए
-अपने बच्चों की पढ़ाई-लिखाई, उसकी शादी बगैरह के लिए
-विदेश घूमने के लिए
-रिटायरमेंट फंड के लिए
-अन्य लक्ष्य हासिल करने के लिए
क्या करें टीचर-फाइनेंशियल एडवाइजर इसके लिए कुछ सलाह देते हैं
-मासिक या तिमाही खर्च के लिए लिक्विड फंड में निवेश करना चाहिए
-लिक्विड फंड से सेविंग्स बैंक अकाउंट के मुकाबले ज्यादा रिटर्न मिलना मुमकिन
-सालाना पेमेंट के लिए डेट फंड में सिस्टैमिक इन्वेस्टमेंट प्लान (SIP)
 में पैसे लगाएं और हर महीने कुछ पैसे जमा करें।
-साल के अंत में SIP से बैंक रेकरिंग डिपॉजिट ( RD)के
मुकाबले ज्यादा रिटर्न मिलने की संभावना
-म्युचुअल फंड प्रोडक्ट में पैसे लगाकर टीचर लोन की EMI भी
आसानी से चुका  सकते हैं
-अगले 5-7 साल में कोचिंग क्लास स्थापित करने के लिए अच्छे इक्विटी फंड में
SIP करने की सलाह, लेकिन लक्ष्य जब नजदीक आए, तो इक्विटी फंड से पैसे
निकालकर डेट फंड में पैसा लगा सकते हैं
-बच्चों की पढ़ाई-लिखाई और शादी बगैरह का खर्च निकालने के लिए अच्छे इक्विटी
फंड में SIP करें। इसमें हर महीने पैसा निवेश करते रहें।
-रिटायरमेंट फंड के लिए अच्छे इक्विटी फंड में SIP करें। लंबी अवधि में इक्विटी
फंड से 12-13% रिटर्न की गुंजाइश।
-टैक्स बचाने के लिए  ELSS (इक्विटी लिंक्ड सेविंग्स स्कीम्स) में पैसे लगाएं।
फाइनेंशियल प्लानिंग करना है आसान, कैसे, पढ़ें-
http://beyourmoneymanager.blogspot.in/2015/04/blog-post_20.html

डिस्क्लेमर: ये लेखक की निजी राय है और इसे निवेश के लिए सलाह ना समझें। ये केवल जानकारी के
 लिए दी गई है। कोई भी निवश से पहले अपने विवेक से फैसला लें। 

No comments