'अमीरी पहले दीमाग में आती है फिर जेब में '

स्टूडेंट लाइफ से ही सीखें अमीर बनने के गुर 
मार्केट में टिप्स ओरिएंटेड नहीं, स्किल ओरिएंटेड बनें  फर्ज कीजिए, आपने इंजीनियरिंग की डिग्री ली और आपसे किसी ने पूछा, भईया आप डॉक्टर क्यों नहीं बन जाते हो। आपको सामने वाले पर जरूर गुस्सा आएगा। क्योंकि, ये तो जाहिर सी बात है कि इंजीनियरिंग की डिग्री लेने वाला भला डॉक्टर कैसे बन सकता है। यही बात शेयर बाजार में ट्रेडिंग करने वालों के साथ भी लागू होती है।
भला बगैर शेयर मार्केट को जाने आप वहां से कमाई कैसे कर सकते हैं। मान लो एक दो टिप्स के बल पर आपने कुछ कमाई भी कर ली लेकिन टिप्स हमेशा तो काम नहीं कर सकती है। आपको इसके लिए स्किल तो बढ़ानी पड़ेगी और ट्रेनिंग इसमें सबसे ज्यादा मददगार साबित होगी।
रही बात शेयर बाजार में नुकसान या भारी उतार-चढ़ाव की, तो क्या किसी भी कारोबार में नुकसान के बाद कोई कारोबार बंद कर देता है या फिर किसी परीक्षा में फेल होने पर कोई पढ़ना-लिखना बंद कर देता है। या फिर अगर किसी को कोई जॉब नहीं मिली तो दूसरी जॉब की तलाश करना बंद कर देता है।
स्टूडेंट्स के लिए कितना जरूरी है शेयर बाजार ट्रेडिंग-
जब हम अपने कॉलेज या स्कूल में पढ़ाई करते हैं तो सबसे पहले इस बात पर नजर जाती है कि क्या हमारा
एजुकेशन सिस्टम अपग्रेड है, या जो हमें पढ़ाया जा रहा है वो आज की जरूरत पूरी करता है। तो, जवाब मिलेगा, नहीं। अगर, हमारा एजुकेशन सिस्टम अपग्रेड रहता तो फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को स्किल्ड इंडिया का नारा
देने की जरूरत ही नहीं पड़ती। तो, दुनिया का सबसे बड़ा बिजनेस यानी मार्केट में  ट्रेडिंग के लिए स्किल बढ़ानी हो तो क्यों ना कॉलेज लाइफ से ही इसकी शुरुआत कर दें।
जरा सोचिए, 20-25 साल के एजुकेशन के बाद आप 30 हजार या लाख-डेढ़ लाख महीना सैलरी पर आपको कहीं जॉब लग जाती है, तो क्या इतना आपके, आपके परिवार का खर्च चलाने के लिए काफी होगा। शायद नहीं, आदमी जितना कमाता है उससे ज्यादा खर्च होता है। तो, क्यों ना, स्टूडेंट लाइफ से ही अतिरिक्त कमाई के लिए स्किल डेवलप किया जाए। ऐसे में मार्केट में ट्रेडिंग एक बेहतर विकल्प हो सकता है।
इसमें फायदा ये है कि पढ़ाई के साथ-साथ कमाई कर सकते हैं और वो भी बिना किसी अतिरिक्त संसाधन या फिर अतिरिक्त समय दिए ही। और हां, एक बात और स्किल बढ़ाने के लिए पैसा नहीं होने का रोना मत रोइए। पॉकेट खर्च से भी आप मार्केट से कमाई कर सकते हैं।
याद रखिए, पैसा नहीं होने से किसी का काम नहीं रूकता है, लेकिन अगर आपके पास स्किल नहीं है, ज्ञान
नहीं है, समझ नहीं है तो आपका काम जरूर रूक जाएगा। बाजार में ट्रेडिंग के लिए कई टूल्स मौजूद हैं जिसका आप इस्तेमाल कर सकते हैं। मान लिया, बीच में अगर एग्जाम आ जाए तो उन दिनों ट्रेडिंग पर कम ध्याज दीजिए। फिर एग्जाम के बाद ट्रेडिंग शुरू कर दीजिए। याद रखिए, अमीरी पहले दीमाग में आती है तब जेब में आती है।

स्टूडेंट्स लाइफ में ट्रेडिंग करने के फायदे-
-दुनिया भर की जानकारी से आप अपडेट रहेंगे
-एशिया, अमेरिकी, यूरोपीय बाजार में होने वाली हर हलचल पर आपकी नजर रहेगी
-अपग्रेडेड टेक्नोलॉजी से आप अवगत रहेंगे
-किसी भी मुद्दे पर फैसले लेने में तेजी आएगी
-समय की पांबदी, अनुशासन तो आप में कूट-कूट कर भर जाएगा
-किसी भी जॉब में आपको प्राथमिकता दी जाएगी
-नफा-नुकसान का प्रैक्टिकली अनुभव आपको मिलेगा
-आप मजा-मस्ती करते हुए भी पैसे कमा सकते हैं
-समाज में, किसी महफिल में  पैसे के बारे में इतनी जानकारी के बाद आपकी हैसियत तो बढ़ेगी ही।

सामान खरीदने जैसा आसान है शेयर बाजार में पैसे लगाना

No comments