म्युचुअल फंड: क्यों है निवेश का सबसे बेहतर जरिया: भाग-1

एक निश्चित अवधि में मुनाफा कमाने (रिटर्न) की उम्मीद में खर्च किया जाने वाला पैसा निवेश कहलाता है। निवेश के लिए आज हमारे पास कई सारे विकल्प हैं, मसलन, शेयर बाजार, सोना-चांदी, प्रॉपर्टी, एफडी, बॉण्ड,
सरकारी सिक्योरिटीज बगैरह। लंबी अवधि के लिए म्युचुअल फंड भी निवेश का बेहतर जरिया माना जाता है।

रिटर्न, लिक्विडिटी, निवेश पर होने वाले खर्च, टैक्स समेत लंबी अवधि में महंगाई को मात देने में सबसे सशक्त साधन के पैमाने पर खरा उतरने वाला माना जाता है म्युचुअल फंड। हालांकि, मार्केट से जुड़ा निवेश साधन होने की वजह से रिस्क इसमें भी होता है।

इसमें कोई भी निवेशक सीधे-सीधे शेयरों में पैसा नहीं लगाता है, बल्कि जानकारों की अगुआई में एक टीम बेहतर शेयरों का चुनाव कर उसमें निवेश करती है।

म्युचुअल फंड की खास बातें: 

-क्या है म्युचुअल फंड (mf):
1-निवेश का साधन
2- बहुत से निवेशकों की बचत को जमा कर एक समान वित्तीय लक्ष्य को साझा करने वाला ट्रस्ट
3-एक ऐसी निवेश कम्पनी है जो अपने शेयर होल्डरो से इकट्ठा किया गया धन निवेश करती है



-कहां होता है mf निवेश: जमा किए गए पैसों को पूंजी बाजार के साधनों मसलन, शेयर, डिबेंचर और दूसरी प्रतिभूतियों में निवेश

-कैसे साझा होता है रिटर्न:  निवेशों और प्राप्त पूंजी मूल्यवृद्धि के जरिये हासिल होने वाली
आय को इसके शेयरधारकों द्वारा अपने स्वामित्व वाली इकाइयों की संख्या के अनुपात में



















-mf में निवेश क्यों: प्रोफेशनल मैनेजमेंट, डायवर्सिफाइड, अच्छे रिटर्न की संभावना,
कम पैसों का भी निवेश, कम लागत, लिक्विडिटी, पारदर्शिता, लचीलापन, कई विकल्प,
टैक्स में लाभ









-किसके जरिये निवेश : एजेंट, कंपनियां, बैंक, वित्तीय सलाहकार, खुद ऑनलाइन, स्टॉक एक्सचेंज

-स्पॉन्सर या प्रायोजक: कंपनियों में प्रमोटर जैसा mf में स्पॉन्सर, एक पंजीकृत कंपनी,
अनुसूचित बैंक या वित्तीय संस्था हो सकता है।

-स्पॉन्सर का काम:
1-एक mf सेट-अप का विचार प्रकट करना
2-ट्रस्टी, AMC, कस्टोडियन नियुक्त करता है
3-AMC के गठन के बाद महज हितधारक की भूमिका में

- mf ट्रस्टी का काम: 
1- यूनिट धारकों (निवेशकों) के हितों की रक्षा करने वाला
2- निवेश स्कीम्स बाजार में लाकर उसकी मार्केटिंग करने वाला
3-AMC के निवेश परिभाषित सीमाओं के अंतर्गत हैं या नहीं, देखना
4- फंड की परिसंपत्तियों को रक्षित किया गया है या नहीं, देखना
5-मार्केट रेगुलेटर SEBI को रिपोर्ट देना

No comments