क्या होम लोन ट्रांसफर करने का सही वक्त है...

रिजर्व बैंक द्वारा रेपो रेट में आधे परसेंट की कमी के बाद बैंक भी लगातार लेंडिंग रेट घटा रहे हैं। लेंडिंग रेट्स में कमी लोन लेकर घर खरीदने वालों के साथ-साथ मौजूदा होम लोन ग्राहकों के लिए भी होम बायर्स के लिए भी राहत की बात है। जानकारों को आगे लेंडिंग रेट्स में और कमी की उम्मीद है।

ऐसे में आप ने अगर लोन ले रखा है तो आप भी अपने बैंक से पूछें कि उसने आपके लोन पर ब्याज दर में कमी की या नहीं। अगर आपके बैंक ने ऐसा नहीं किया है तो आप अपना लोन दूसरे उन बैंक में ट्रांसफर कर सकते हैं जिन्होंने अपना लोन सस्ता किया यानी कर्ज की दरें घटाई है।

((बैंक घटा रहे हैं बेस रेट, जानिए कहां मिलेगा सबसे सस्ता कर्ज 
http://beyourmoneymanager.blogspot.in/2015/10/blog-post_45.html

((कर्ज हुआ सस्ता, आप ऐसे उठाएं फायदा 
http://beyourmoneymanager.blogspot.in/2015/10/blog-post_89.html

((अब बैंक कर्ज सस्ता करने में मनमानी नहीं कर सकेंगे !
http://beyourmoneymanager.blogspot.in/2015/10/blog-post_11.html

लेकिन ऐसा करते समय कुछ बातों का ध्यान रखें कि क्या आपके लिए लोन ट्रांसफर करने का ये सही वक्त है...लोन ट्रांसफर करते समय बकाया लोन समेत ट्रांसफर में होने वाले दूसरे खर्चों मसलन, स्टैंप ड्यूटी या जहां लोन ट्रांसफर कर रहे हैं वहां की प्रोसेसिंग फीस बगैरह और जिस बैंक में आपका मौजूदा लोन वहां पर ट्रांसफर करने के एवज में लिया जाने वाला चार्ज अगर कोई हो तो, इन सबको जोड़ना चाहिए, तब लोन ट्रांसफर करने
का फायदा या नुकसान का पता चलेगा।

जानकारों के मुताबिक, आप लोन ट्रांसफर करें, यदि 

-जहां आपका मौजूदा लोन है और जहां आप लोन ट्रांसफर करना
चाहते हैं, दोनों के बीच कर्ज की दरों में कम से कम 0.50% का अंतर हो

-मौजूदा लोन चुकाने की अवधि 5 साल से अधिक हो

-मौजूदा कर्जदाता की सेवा से आप संतुष्ट ना हों

जानकारों की मानें तो अभी लोन ट्रांसफर करने का सही वक्त नहीं है, क्योंकि सभी दिग्गज बैंक इस समय होम लोन पर 9.55-9.65 % के बीच है।

लेंडिंग रेट्स में अंतर से ऐसे होता है फायदा:  

मान लिया आपने 15 साल के लिए 9.85% सालाना की ब्यज दर से 50 लाख रुपए का होम लोन लिया। ऐसे में आपको हर महीने ईएमआई के तौर पर 53,272 रुपए चुकाना होगा। अगर आप इतना ही लोन 15 साल के लिए 9.7% की दर से लेते हैं तो आपको हर महीने 52,937  रुपए चुकाना होगा यानी लेंडिंग रेट्स में 0.15% की कमी से आपको हर महीने  335 रुपए (53,272 रुपए-52,937 रुपए) की बचत होगी। यानी 15 साल में आपको 15x12X335=60,300 रुपए की बचत होगी। इसमें से अगर आपने 5 साल लोन चुकाया हो तो लोन ट्रांसफर करने पर 10 साल में आपकी बचत होगी 10x12X335=40,200 रुपए। यानी अगर आप लोन ट्रांसफर करने जा रहे हैं तो ये बात ध्यान में रहनी चाहिए कि आपको हर कीमत पर  40,200 रुपए से ज्यादा का फायदा हो। अगर ऐसा नहीं है तो फिर लोन ट्रांसफर करने का कोई फायदा नहीं मिलेगा।

अगर आप महाराष्ट्र, कर्नाटक, तमिलनाडु और राजस्थान में किसी एक बैंक से दूसरे बैंक में होम लोन ट्रांसफर कर रहे हैं तो आपको स्टैंप ड्यूटी भी चुकाना पड़ेगा जो कि बकाया लोन का 0.15-0.5% है।

((HDFC ने सस्ता किया होम लोन, महिलाओं को अतिरिक्त छूट
http://beyourmoneymanager.blogspot.in/2015/10/hdfc.html

((केनरा बैंक, कॉर्पोरशन बैंक, स्टैनचार्ट ने बेस रेट घटाए
http://beyourmoneymanager.blogspot.com/2015/10/blog-post_20.html

((डिपॉजिट्स पर ब्याज घटे, अब कहां हैं ज्यादा कमाई के सुरक्षित मौक; भाग-1 
http://beyourmoneymanager.blogspot.in/2015/10/1.html

((डिपॉजिट्स पर ब्याज घटे, अब कहां हैं ज्यादा कमाई के सुरक्षित मौक; भाग-2
http://beyourmoneymanager.blogspot.in/2015/10/2.html

1 comment