ऐसे E-mails/SMSs/Calls से बचेंगे, तो नहीं पछताएंगे

“Congrats…आपके मोबाइल नंबर ने पांच लाख डॉलर का इनाम जीता है”,  “आपने लॉटरी में दस लाख डॉलर जीता है”,  “आपको ब्रिटिश एम्बैसी में नौकरी लग गई है” जैसे लालच देने वाले एसएमएस या फिर ई-मेल शायद आपके भी मोबाइल या फिर आपके ई-मेल आईडी पर आते रहते होंगे। हो सकता इन एसएमएस या फिर ई-मेल को देखकर आपका मन भी ललचा होगा, शायद आपने उन एसएमएस या ई-मेल में दिए गए निर्देशों का आपने पालन भी करना शुरू कर दिया होगा…बिना इस बात का पता किए कि आपको भेजे गए एसएमएस या फिर ई-मेल फर्जी है या फिर सच।

अगर आपके पास भी इस तरह के आकर्षक मेल या एसएमएस या फिर कॉल आए हों तो आप संभल जाएं।
जरा सोचिए, किसी प्रतियोगिता के लिए आपने आपना मोबाइल नंबर रजिस्टर्ड नहीं करवाया और न ही लॉटरी का टिकट खरीदा या फिर कभी ब्रिटिश एम्बैसी में नौकरी के लिए आपने कभी आवेदन भी नहीं किया तो फिर भी आपके पास इस तरह का एसएमएस या फिर ई-मेल आना आपको चौंकाएगा जरूर…ऐसे में आपको सतर्क रहना होगा। क्योंकि अनजान सा कोई शख्स या फिर कोई कंपनी मुफ्त में आपको पैसा क्यों देगा ?

रिजर्व बैंक (RBI)ने लोगों को ऐसे फर्जी एसएमएस और ई-मेल से आगाह किया है। रिजर्व बैंक ने लोगों से इस तरह के आकर्षक प्रस्ताव पर भरोसा न करने की अपील की है। साथ ही रिजर्व बैंक ने लोगों के लिए कुछ गाइडलाइंस जारी की है ताकि आप अपनी मेहमत की कमाई बिना-जांचे परखे किसी और को न दें…

1- भारत या विदेश में किसी भी अज्ञात पार्टी या व्यक्ति को किसी इनिशियल डिपॉजिट/कमीशन / ट्रांसफर फी के रूप में कोई पैसा न भेजें…

2-टेलीफोन/ मोबाइल या ई-मेल के माध्यम से किसी को भी अपने बैंक खाता संख्या/ डिटेल्स या दूसरी जानकारी नहीं बताएं…

3-भारतीय या विदेशी किसी भी पार्टी से कोई पैसा हासिल करने की उम्मीद में कोई करेस्पोंडेंस न करें…

4-भारतीय रिजर्व बैंक किसी व्यक्ति/ संगठन/ संस्था के लिए कोई धनराशि अपने पास नहीं रखता है…

5-अपने दोस्तों / पारिवारिक सदस्यों को सावधान रहने के लिए सूचित करें…

6-ऐसे जाली प्रस्तावों के बारे में कृपया साइबर सेल या दूसरे कानूनी प्रवर्तन एजेंसियों से

संपर्क करें…

7-रिजर्व बैंक की वेबसाईट की भी आप इस मामले में मदद ले सकते हैं…

इन दिनों साइबर फ्रॉड अपने जाल में सीधे-साधे लोगों को फंसाने के लिए तरह तरह के हथकंडे अपना रहे हैं। लोगों को तरह-तरह से झांसा देते हैं। मसलन, आपको ई-मेल या एसएमएस या फिर कॉल के जरिए ये बताया जाता है कि आपने फलां-फलां लॉटरी जीती है। फ्रॉड करने वाले आपको आपके कारोबार के लिए सस्ती फंडिंग का भी प्रस्ताव करता है।

फ्रॉड करने वाले इतने शातिर हो गए हैं कि रिजर्व बैंक के लेटरहेड पर उसके गर्वनर के फोटो या फिर उसके किसी वरिष्ठ अधिकारी के नाम का भी इस्तेमाल कर लोगों को अपने जाल फंसा रहे हैं। फ्राड करने वाले इस लेटर में यह लिखकर आपके पास भेज सकते हैं कि भारतीय रिजर्व बैंक आपके लिए कुछ पैसे होल्ड कर रखी है जिसे वह तभी रिलीज करेगा, यदि आप अपने बैंक अकाउंट की अपनी कस्टमर आईडी या फिर पासवर्ड  जैसे अहम जानकारियों के साथ कुछ राशि या फिर उसके कुछ हिस्से का भुगतान करते हैं…

ऐसे ठगों से आपको आपकी सतर्कता ही बचा सकती है।  इसलिए ऐसे e-mails/SMSs/Calls को नजरअंदाज कर दें तो ही बेहतर है।

No comments