फाइनेंशियल प्लानिंग (वित्तीय योजना) क्या है और क्यों जरूरी है?

फाइनेंशियल प्लानिंग यानि वित्तीय योजना या फिर पैसों का इस तरह से रख-रखाव जिससे कि भविष्य की हम अपनी वित्तीय योजना को पूरा कर सके, हमारे लिए काफी महत्वपूर्ण हो गया है।

सरकार के अलावा सारे फाइनेंशियल रेगुलेटर मसलन, सेबी, रिजर्व बैंक, आईआरडीए, एनएसई, बीएसई भी फाइनेंशियल लिट्रेसी (वित्तीय साक्षरता) को बढ़ाने के लिए काफी कोशिश कर रहे हैं। तो आइए आसान शब्दों में समझते हैं कि आखिर वित्तीय योजना है क्या है और हमें इस पर जोर क्यों देना चाहिए...

>वित्तीय योजना क्या है
- वित्तीय योजना का दायरा बचत से काफी अधिक होता है
-किसी खास उद्देश्य के साथ किया गया निवेश वित्तीय योजना कहलाता है
-यह भविष्य की आय और खर्च की योजना होती है जिसे सुझबुझ के साथ और
जरूरत पड़े तो विशेषज्ञों की मदद से तैयार की जानी चाहिए
-यह इंसान के वित्तीय लक्ष्यों को उनके धन के पूर्ण प्रबंधन के द्वारा पूरा
करने की योजना होती है

> वित्तीय लक्ष्य का मतलब:  
-घर खरीदना, बच्चों को उच्च शिक्षा, रिटायरमेंट, सैर-सपाटा, कार बगैरह खरीदना
-इंश्योरेंस खरीदना, बच्चों का शादी-विवाह, मेडिक्लेम बगैरह

>वित्तीय योजना के दौरान ध्यान रखने वाली बातें: 
-बहुत ज्यादा जोखिम वाले निवेश से बचने की कोशिश करें
-नए और जटिल वित्तीय उत्पाद (Financial Products) में निवेश से
पहले इनके बारे में ज्यादा जानने की जरूरत है
-टैक्स नियमों और दूसरी जरूरतों के हिसाब से वित्तीय योजना बनाएं
-वित्तीय योजना और वित्तीय उत्पादों को समझना बहुत जरूरी है

>कितनी अवधि की होनी चाहिए वित्तीय योजना:
- छोटी, मध्यम और बड़ी अवधि तीनों तरह की बचत के बारे में गौर करें
-अपनी आय का एक हिस्सा किसी विशेष संपत्ति (Assets) में निवेश करें

>संपत्ति (Assets) के रूप में निवेश के अलग-अलग विकल्प क्या हैं:
-बैंक डिपॉजिट, सरकारी बचत योजनाएं मसलन, किसान विकास पत्र,
PPF, वरिष्ठ नागरिक बचत योजना, मंथली इनकम स्कीम बगैरह
-शेयर, म्युचुअल फंड, इंश्योरेंस, कमोडिटीज, बॉन्ड, डिबेंचर,
कंपनी और सावधि जमा बगैरह

((क्यों और कैसे बनें beyourmoneymanager? 
((सिर्फ तीन कदमों में कैसे पूरी करें फाइनेंशियल प्लानिंग की दुनिया
(('आर्थिक स्वतंत्रता हमारा जन्मसिद्ध अधिकार है'
((अपने पसंदीदा सितारों से सीखें बचत, निवेश और वेल्थ मैनेजमेंट के गुर
((महिलाओं को क्यों सीखना चाहिए निवेश और फाइनेंस की बेसिक्स 
((फाइनेंशियल सफर को सुहाना बनाता है 'मनी मित्र', कैसे जानने के 
((म्युचुअल फंड के जरिए फाइनेंशियल प्लानिंग पूरी करें
((म्युचुअल फंड: क्यों है निवेश का सबसे बेहतर जरिया: भाग-1
((म्युचुअल फंड: क्यों है निवेश का सबसे बेहतर जरिया: भाग-2
((म्युचुअल फंड कंपनियों की सूची
((टीचर हैं तो क्या हुआ, फाइनेंशियल प्लानिंग करना तो, बनता है बॉस
((डॉक्टर कैसे ठीक रखें फाइनेंशियल सेहत 
((शादी की खुशी में फाइनेंशियल प्लानिंग करना कहीं भूल तो नहीं गए
((ट्रेजरी बिल्स (टी-बिल्स) क्या है
((NPS और PF में से बेहतर कौन ?
((फाइनेंस का फंडा: भाग-14, PFRDA का क्या काम है 
((सुरक्षित रिटायरमेंट: आज की तैयारी, कल की बेफिक्र जिंदगी
((60 साल की उम्र में करोड़पति बनने के लिए क्या करें
((खुद के पैसे, खर्च करें कैसे; जानें 50:30:20 फॉर्मूले से 
((खुद का खर्च कैसे मैनेज करें? 
(ब्लॉग एक, फायदे अनेक

Plz Follow Me on: 

No comments