शेयर बाजार में उतरने से पहले डमी रूप में रफ कॉपी पर शेयर खरीदता-बेचता रहा: प्रशांत कुमार बशिष्ठ, रीटेल इन्वेस्टर

प्रशात कुमार बशिष्ठ, रीटेल इन्वेस्टर
बिहार के मुंगेर निवासी प्रशांत कुमार वशिष्ठ शेयर बाजार में संभलकर पैसे लगाते हैं। उन्हें कभी-कभी नुकसान उठाना पड़ता है लेकिन हर नुकसान के बाद वो अपनी रणनीति बदलते रहते हैं और शेयर बाजार से ज्यादा मुनाफा कमाने की कोशिश करते हैं। शेयर बाजार और खास-खास शेयरों के बारे में वो एक्सपर्ट की राय पर तो नजर रखते हैं लेकिन खुद के रिसर्च पर वो सबसे ज्यादा भरोसा करते हैं। 

अगर आप शेयर बाजार में निवेश करने के बारे में सोच रहे हैं और उलझन में हैं तो प्रशांत जी उलझन को कुछ 
हद तक कम कर सकते हैं। प्रशांत जी के साथ beyourmoneymanager के साक्षात्कार के अंश...

-beyourmoneymanager: शेयर बाजार जैसे जटिल क्षेत्र में आपकी रूचि कैसे जगी?
प्रशांत कुमार बशिष्ठ:  अपने धन में सामान्य से अधिक वृद्धि की चाह ने मुझे शेयर बाजार में रूचि जगाया । 
इसके अलावा,सच बोलूं तो समय समय पर निवेश, शेयर मार्केट और फाइनेंशियल प्लानिंग पर आपके  ब्लॉग ने भी इस क्षेत्र को और रुचिकर बना दिया ।

-beyourmoneymanager: शेयर बाजार में उतरने से पहले आपको किसी तरह का डर नहीं लगा। मसलन, 
शेयर बाजार के बारे में जानकारी नहीं है, नुकसान हो जाएगा, तो क्या करेंगे...बगैरह-बगैरह सवाल मन में नहीं 
तो जरूर उठे होंगे। 
प्रशांत कुमार बशिष्ठ: शुरू में लगभग 3 महीने मैं डमी रूप में अपने रफ कॉपी पर शेयर खरीदता और बेचता था , उसके बाद लगभग 6 महीने काफी छोटी रकम से शेयर खरीद बिक्री की। इस प्रयोग ने शेयर और शेयर मार्केट की एक प्रारम्भिक जानकारी दी । अतः सीखने की ललक ने कभी मुझे डरने नहीं दिया ।

-beyourmoneymanager: किसी शेयर में पैसे लगाने या उसे बेचने का फैसला आप कैसे करते हैं। खुद के रिसर्च के आधार पर या फिर एक्सपर्ट की टिप्स के आधार पर। 
प्रशांत कुमार बशिष्ठ: मैं खुद के अनुसंधान पर ज्यादा विश्वास करता हूँ। एक्सपर्ट के सुझाव पर भी संतुष्ट होने पर ही पैसा लगता हूँ। 

-beyourmoneymanager: शेयर बाजार पर जानकारी या रिसर्च के लिए आप किन साधनों का इस्तेमाल करते हैं? मतलब, आप जानकारी कहां-कहां से इकट्ठा करते हैं? क्या हिन्दी में शेयर बाजार पर पर्याप्त जानकारी बाजार में मौजूद है? 
प्रशांत कुमार बशिष्ठ: निश्चित रूप से अंग्रेजी माध्य्म के मुकाबले हिंदी माध्य्म सामग्री अति अल्प है  परंतु हाल के वर्षों मे आप जैसे लोगों ने सार्थक प्रयास किया है इसके लिए आपलोंगों का दिल से ऋणी हूँ । वर्तमान में जानकारी का मुख्य स्रोत्र इन्टरनेट ही है इसके अलावा टीवी , पेपर , मैगज़ीन आदि भी हैं।

-beyourmoneymanager: एक रीटेल इन्वेस्टर के तौर पर आपकी दिनचर्या खासकर शेयर बाजार को लेकर क्या होती है? 
प्रशांत कुमार बशिष्ठ: दिनचर्या की शुरुआत मैं beyourmoneymanager के ब्लॉग से करता हूँ ताकि विदिशी मार्केट की चाल से अपने बाजार का अंदाज लगा सकूं, इसके अलावा टीवी पेपर और मार्केट के उतार-चढ़ाव पर नजर सुबह 9 बजे से 3.30pm तक बनी रहती है।  

-beyourmoneymanager: अक्सर देखा गया है कि शेयर बाजार में एक बार हाथ जलाने के बाद रीटेल इन्वेस्टर शेयर बाजार से तौबा कर लेते हैं। कभी आपको लगा कि शेयर बाजार एक जुआ है और इसमें केवल नुकसान ही नुकसान होता है? 
प्रशांत कुमार बशिष्ठ: यदि आपके शेयर के फंडामेंटल मजबूत है तो हाथ जलने पर अधिक से अधिक शेयर लें, 
समय आने पर यह आपके जीवन की सारी जलन को दूर कर देगा ।

-beyourmoneymanager: नए रीटेल इन्वेस्टर के लिए आप क्या सलाह देंगे। ? 
प्रशांत कुमार बशिष्ठ: शेयर मार्केट आपके पैसे से ज्यादा आपके धैर्य की परिक्षा लेता है अतः धैर्य के साथ फंडामेंटल से मजबूत कम्पनियों में निवेश करते रहे ।

-beyourmoneymanager: हमसे बात करने के लिए शुक्रिया प्रशांत जी...
प्रशांत कुमार बशिष्ठ: शुक्रिया 

-शेयर बाजार पर और लेख पढ़ने के लिए क्लिक करें....
((कैसे करें शेयर बाजार में एंट्री 
((सामान खरीदने जैसा आसान है शेयर बाजार में पैसे लगाना
((खुद का खर्च कैसे मैनेज करें? 
((जानें वो आंकड़े-सूचना-सरकारी फैसले और खबर, जो शेयर मार्केट पर डालते हैं असर
((निवेश, फाइनेंशियल प्लानिंग पर हिन्दी किताब 'आपका पैसा, आप संभालें' ऑनलाइन खरीदें 


No comments