शेयर बाजार: जब तक सीखेंगे नहीं, तबतक पैसे बनेंगे नहीं!

कुछ जानकार कई रिसर्च के आधार पर मानते हैं कि शेयर बाजार में 90% निवेशक अपना पैसा गंवाते हैं जबकि कमाते हैं सिर्फ 10% ही। अगर ये बात सच है तो पैसे गंवाने वालों के लिए बहुत कुछ सोचने की जरूरत है,सीखने की जरूरत है। अगर नहीं सोचेंगे तो आगे भी अपना पैसा यूं ही गंवाते रहेंगे और आपके पैसों पर कमाई कोई और करता रहेगा। और एक दिन थक हारकर सब कुछ गंवाकर आप शेयर बाजार को बाय-बाय कर देंगे। कहां आप पैसे से पैसा बनाने आए थे और कहां आप सबकुछ गंवा कर चले जाएंगे। क्या ये सही है? 

अब पूंछेंगे कि भाई, शेयर बाजार में पैसे लगाने में सोचना क्या है? पैन कार्ड, एड्रेस प्रूफ, बैंक अकाउंट रहने और हस्ताक्षर करने की जानकारी रहने पर डीमैट अकाउंट खुल ही जाता है और फिर यहां-वहां से स्टॉक्स टिप्स मिल जाती है तो पैसे लगा दो। इसमें सोचने की क्या जरूरत है। लीजिए, यहीं पर तो सोचना है। जरा, टिप्स बताने वालों से पूछिए कि अगर उनका बताया शेयर नहीं चला तो क्या वो आपके नुकसान की भरपाई करेंगे? अगर अभी तक आपने नहीं पूछा है तो कभी पूछ कर देखिएगा, क्या जवाब मिलता है। बहुत बार तो टिप्स देते समय ही आपको लिखित जवाब मिल जाता है, डिस्कलेमर के तौर पर, कि इसे जानकारी मानें, निवेश की सलाह नहीं और अगर आप निवेश करते हैं तो पहले किसी एडवाइजर से सलाह ले लें या फिर अपने रिस्क पर पैसे लगाएं। लीजिए, ऐसे में तो पहले ही टिप्स देने वालों ने अपने हाथ खड़े कर दिए। अगर आपका नुकसान होता भी है तो टिप्स देने वालों को आपकुछ भी नहीं बोल सकते हैं। तो, अब तो आप सोचेंगे। 

अगर इतना पर भी आप सचेत नहीं हो रहे हैं तो जरा सोचिए, पैसे आपके हैं, आपकी गाढ़ी-कमाई के हैं, अगर नुकसान होता है तो किसका होता है। टिप्स देने वालों का या फिर आपका। फिर बिना सोचे-समझे शेयर बाजार में पैसे लगाएंगे, किसी के कहने पर, किसी की टिप्स पर और नुकसान हो जाएगा, तो कहेंगे कि शेयर बाजार तो एकदम से सट्टा है, गैम्बलिंग (Gambling) है। पैसा आप बिना सोचे-समझे लगा रहे हैं और गाली दे रहे हैं शेयर बाजार को। जरा सोचिए, उन 10% निवेशक के बारे में जो हर हाल में शेयर बाजार से पैसे बना रहे हैं...मार्केट चाहे गिर रहा हो, बढ़ रहा हो या फिर स्थिर हो। अब अगर शेयर बाजार में पैसे लगाने को लेकर आपके दीमाग की बत्ती जल गई हो तो आपको बता दें कि आपको बेसिक चीज सीखनी क्या है... 

> शेयर बाजार में पैसे लगाने से पहले क्या सीखें:
सबको पता है कि शेयर बाजार में शेयरों की खरीद-बिक्री से पैसे बनते हैं और जोखिम भी होते हैं। तो हमें खास तौर पर तीन बात सीखने की जरूरत है शेयर बाजार में सक्रिय तौर पर इन्वेस्ट या ट्रेडिंग करने से पहले। 

-पहल कदम: कौन से शेयर खरीदने हैं या बेचने हैं और क्यों 

-दूसरा कदम: शेयर कब खरीदने हैं, कब बेचने हैं या फिर कब तक होल्ड रखना है यानी निवेशित रहना है

-तीसरा कदम: रिस्क मैनेजमेंट और रिवार्ड सिस्टम के बारे में जानें। इसमें तो कोई शक नहीं कि शेयर बाजार रिस्की है और इसमें आपके निवेश को नुकसान की आशंका बनी रहती है। लेकिन केवल आप इसी आधार पर शेयर बाजार को गैम्बलिंग नहीं कह सकते हैं, क्योंकि कोई ऐसा बिजनेस बताइए जिसमें नुकसान की आशंका नहीं होती है, जिसमें प्रॉफिट-लॉस नहीं होते हैं। नुकसान के संदर्भ में शेयर बाजार में एक अच्छी चीज ये है कि आप रिस्क खुद तय कर सकते हैं, आपको कितना रिस्क लेना है, इसके लिए शेयर बाजार में टूल्स है जिसे स्टॉप लॉस यानी नुकसान को रोकना कहते हैं। रिवार्ड का मतलब हुआ आप कितना टार्गेट तय करते हैं यानी आपको 
शेयर बाजार से कितना रिटर्न चाहिए, ये आप तय कर सकते हैं और इसका वाकायदा शेयर बाजार में एक मैकेनिज्म है, जो कि दूसरे किसी बिजनेस में नहीं है। 

अब आप जानना चाहते होंगे कि शेयर बाजार के इन तरकीब को सीखा कहां से जाए। इसके लिए कई ब्रोकरेज हाउस प्रोफेशनल ट्रेनिंग देते हैं। इसके अलावा कई दूसरे संस्थान भी ऑनलाइन, ऑफलाइन ट्रेनिंग देते हैं। आपको इंटरनेट से इसकी जानकारी मिल सकती है। आप कह सकते हैं कि यूट्यूब पर सैकड़ों वीडियो हैं शेयर बाजार में ट्रेडिंग सीखाने वालों या फिर बाजार में भी कई पुस्तकें उपलब्ध हैं।

इसके अलावा समय-समय पर इस बारे में सेमिनार आयोजित होते रहते हैं। आपकी बात सही है लेकिन सबसे बड़ी बात है जो बातें आप उनसे सीखतें हैं उनको ट्रेडिंग के दौरान व्यवहारिक तौर पर लागू करना। अगर उनको लागू कर आप बाजार से कमाते का भरोसा रखते  हैं तो फिर सही है। लेकिन, अगर आपमें इसका भरोसा नहीं आ पाता है तो फिर प्रोफेशनल ट्रेडिंग लेने में हर्ज क्या है। 

जैसा कार ड्राइविंग सीखने के लिए, स्विमिंग सीखने के लिए, डॉक्टर-इंजीनियर बनने के लिए किसी प्रोफेशनल संस्थान का सहारा लेते हैं उसी तरह शेयर बाजार के प्रोफेशनल इन्वेस्टर या ट्रेडर बनने के लिए भी किसी प्रोफेशनल संस्थान में ट्रेनिंग लेकर आप अधिक से अधिक पैसे बना सकते हैं और उन 10% निवेशकों या ट्रेडर्स में शामिल हो सकते हैं जो 90% लोगों के पैसों से कमाई करते हैं और तब आप शेयर बाजार को गैम्बलिंग मानने से तौबा करेंगे। तो, कब से इन्वेस्टर या ट्रेडर बनने के लिए प्रोफेशनल ट्रेनिंग शुरू कर रहे हैं। 

((जानें वो आंकड़े-सूचना-सरकारी फैसले और खबर, जो शेयर मार्केट पर डालते हैं असर
((कैसे करें शेयर बाजार में एंट्री 
((सामान खरीदने जैसा आसान है शेयर बाजार में पैसे लगाना
((शेयर बाजार में उतरने से पहले डमी रूप में रफ कॉपी पर शेयर खरीदता-बेचता रहा: प्रशांत कुमार बशिष्ठ, रीटेल इन्वेस्टर
((इन्वेस्टमेंट करते समय जब 'इमोशन' हावी हो जाए...
((आप 'Emotional' इन्वेस्टर हैं या 'Rational' !
((शेयर बाजार; पैसा लगाने से पहले जानकारी लेना जरूरी 
((शेयर बाय-सेल-होल्ड-स्टॉप लॉस से पहले....
((ये PE, RoCE रेश्यो क्या है 
((शेयर बाजार के निवेशकों के लिए कंपनियों के नतीजे के मायने -भाग-1
कंपनियों के नतीजे को सिर्फ आंकड़ा ना समझें निवेशक-भाग-1
((शेयर बाजार के निवेशकों के लिए कंपनियों के नतीजे के मायने -भाग-2
कंपनियों के नतीजे को सिर्फ आंकड़ा ना समझें निवेशक-भाग-2
((बाय/सेल/होल्ड/टार्गेट/स्टॉप लॉस क्या बला है...
((डिविडेंड/सस्पेंडेंड/डीलिस्ट कंपनी के बारे में जानकारी कहां मिलेगी
((ये दिसंबर तिमाही को कुछ Q2, कुछ Q3 तो कुछ Q4 क्यों बताते हैं ?
((IPO में कैसे निवेश करें 
((एक से अधिक डीमैट अकाउंट आप खोल सकते हैं  
((क्या करें अगर डीमैट अकाउंट होल्डर की मौत हो जाए
((SMS, ब्लॉग, वेबसाइट्स की शेयर टिप्स पर भरोसा ना करें: सेबी  
(ब्लॉग एक, फायदे अनेक

Plz Follow Me on: 

No comments