बैंकों में करीब ₹9,000 करोड़ की एफडी का कोई दावेदार नहीं, कहीं आपका पैसा तो नहीं पड़ा है, देख लीजिए

इंसान मेहनत की एक-एक पाई जोड़कर पैसे बचाता है, उसे सुरक्षित जगह खासकर बैंकों में रखता है, उसकी एफडी कराता है, ताकि जरूरत पड़ने पर उन पैसों का इस्तेमाल किया जाए। लेकिन, ये क्या कुछ लोग तो बैंक में एफडी कराकर उसे यूं हीं छोड़ दे रहे हैं। करोड़ों रुपए की बैंक एफडी का कोई दावेदार सामने नहीं आ रहा है।  भरोसा ना हो तो रिजर्व बैंक की ताजा रिपोर्ट देख लीजिए।  माना जा रहा है कि केवाईसी की शर्तों को कड़ा कर दिए जाने से पैसा निकालना मुश्किल हो गया है।

रिजर्व बैंक द्वारा जारी ताजा आंकड़ों के मुताबिक, दिसंबर 2016 तक सभी बैंकों के पास 2.63 अकाउंट में ₹8,864.6 करोड़ की एफडी का कोई दावेदार नहीं है। यह आंकड़ा 2012-2016 के दौरान का है। 2012 के मुकाबले 2016 में बैंक अकाउंट और बिना दावे वाली एफडी की रकम करीब दोगुनी हो गई है। 2012 में जहां 1.32 करोड़ अकाउंट में ₹3598 करोड़ रुपए बिना दावा का पड़ा हुआ था, वहीं 2016 में 2.63 अकाउंट में ₹8,000 करोड़ से अधिक की एफडी का कोई दावेदार सामने नहीं आया है। 

रिजर्व बैंक ने सभी बैंकों को  अपनी-अपनी वेबसाइट पर 10 साल से निष्क्रिय पड़े पैसों के बारे में जानकारी देने के निर्देश दिये हैं। रिजर्व बैंक ने कहा है कि अकाउंट होल्डर का नाम, पते सब सही-सही देना चाहिए। 

देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक के पास सबसे ज्यादा  47 लाख निष्क्रिय खातों में ₹1,036 करोड़ पड़ा हुआ है। 
आपने भी अगर पैसा एफडी कराकर छोड़ दिया है तो संबंधित बैंक से पूरी डीटेल्स के साथ संपर्क करें। 
((शेयर बाजार: जब तक सीखेंगे नहीं, तबतक पैसे बनेंगे नहीं! 
((जानें वो आंकड़े-सूचना-सरकारी फैसले और खबर, जो शेयर मार्केट पर डालते हैं असर
म्युचुअल फंड के बदल गए नियम, बदलाव से निवेशकों को फायदा या नुकसान, जानें विस्तार से  
((फाइनेंशियल प्लानिंग (वित्तीय योजना) क्या है और क्यों जरूरी है?
((ये दिसंबर तिमाही को कुछ Q2, कुछ Q3 तो कुछ Q4 क्यों बताते हैं ?
((कैसे करें शेयर बाजार में एंट्री 
((सामान खरीदने जैसा आसान है शेयर बाजार में पैसे लगाना
((खुद का खर्च कैसे मैनेज करें? 
(बच्चों को फाइनेंशियल एजुकेशन क्यों देना चाहिए पर हिन्दी किताब- बेटा हमारा दौलतमंद बनेगा)
((मेरा कविता संग्रह "जब सपने बन जाते हैं मार्गदर्शक"खरीदने के लिए क्लिक करें 

(ब्लॉग एक, फायदे अनेक

Plz Follow Me on: 
((निवेश: 5 गलतियों से बचें, मालामाल बनें Investment: Save from doing 5 mistakes 

No comments