म्युचुअल फंड के बदल गए नियम, बदलाव से निवेशकों को फायदा या नुकसान, जानें विस्तार से

म्युचुअल फंड  को आम निवेशकों के लिए और आसान बना दिया गया है। सेबी म्युचुअल फंड कंपनियों को म्युचुअल फंड स्कीम के वर्गीकरण को लेकर कुछ निर्देश दिये हैं।

सेबी ने म्यूचुअल फंड कंपनियों से अपनी सभी योजनाओं को पांच श्रेणियों में ही विभाजित करने को कहा है। इससे एक ही तरह की कई योजनाओं को एक ही श्रेणी में लाने में मदद मिलेगी। सेबी ने एक परिपत्र में कहा कि योजनाओं को मुख्य तौर पर पांच तरह की श्रेणियों-इक्विटी (Equity), ऋण(Debt) , हाइब्रिड (Hybrid),
समाधानोन्मुखी (Solution Based) और अन्य योजनाएं (Other Schemes)के तहत रखना होगा। अभी तक म्युचुअल फंड स्कीम्स के इस तरह के स्पष्ट वर्गीकरण का कोई नियम नहीं था। हालांकि स्कीम्स को लेकर अलग-अलग वर्गीकरण जरूर था।

सेबी ने साथ ही कंपनियों से यह सुनिश्चित करने को कहा है कि नए नियमों के तहत उनके द्वारा पेश की जाने वाली एक ही श्रेणी की योजनाओं में दोहराव ना हो। मतलब, एक श्रेणी में एक ही स्कीम्स होनी चाहिए, एक से अधिक नहीं। सेबी के नए नियमों के मुताबिक, हर श्रेणी के तहत केवल एक ही योजना को पेश करने की अनुमति होगी। इसमें इंडेक्स फंड, एक्सचेंज ट्रेडेड फंड समेत कुछ विशेष तरह की योजनाओं को ही छूट प्राप्त होगी। 

-देश में पहली बार म्युचुअल फंड स्कीम्स का वर्गीकरण किया गया। 
-सेबी ने म्युचुअल फंड कंपनियों से स्कीम्स को 5 अलग-अलग ग्रुप 
- इक्विटी योजना, डेट या ऋण योजना, हाइब्रिड योजना, 
समाधान आधारित योजनाएं और अन्य योजनाएं-में बांटने को कहा
-हर ग्रुप में अलग-अलग योजनाएं होंगी और हर योजनाओं के तहत केवल
एक ही स्कीम लांच करने की छूट रहेगी। 
-हालांकि हर योजना के तहत केवल एक ही स्कीम लांच करने के नियम 
से कुछ फंड स्कीम्स को छूट दी गई है जैसे- इंडेक्स फंड्स, फंड ऑफ फंड्स/ईटीएफ्स,
सेक्टोरल/थीमैटिक फंड्स। 
-इक्विटी स्कीम्स के तहत 10 तरह की स्कीम्स आएगी-मल्टी कैप फंड, लार्ज कैप फंड, लार्ज एंड मिड
कैप फंड, मिड कैप फंड, स्मॉल कैप फंड, डिविडेंड यील्ड फंड, वैल्यू फंड, कॉन्ट्रा फंड, फोकस्ड फंड,
सेक्टोरेल/थीमैटिक फंड और ईएलएसएस (इक्विटी लिंक्ड सेविंग्स स्कीम्स)
-डेट स्कीम्स के तहत 16 स्कीम्स शामिल है- ओवरनाइट फंड, लिक्विंड फंड, अल्ट्रा शॉर्ट ड्यूरेशन फंड, 
लो ड्यूरेशन फंड, मनी मार्केट फंड, शॉर्ट ड्यूरेशन फंड, मीडियम ड्यूरेशन फंड, मीडियम टू लांग ड्यूरेशन
फंड, लांग ड्यूरेशन फंड, डायनामिक बॉन्ड, कॉर्पोरेट बॉन्ड फंड, क्रेडिट रिस्क फंड, बैंकिंग एंड पीएसयू फंड,
गिल्ट फंड, गिल्ट फंड बिद 10 ईयर्स कॉन्सटैंट ड्यूरेशन, फ्लोटर फंड 
-हाइब्रिड स्कीम्स के तहत 6 स्कीम्स- कंजर्वेटिव हाईब्रिड फंड, बैलेंस्ड हाइब्रिड फंड, एग्रेसिव हाइब्रिड फंड,
डायनामिक एसेट अलोकेशन या बैलेंस्ड एडवांटेज, मल्टी एसेट अलोकेशन, आर्बिट्राज फंड, इक्विटी सेविंग्स 
-समाधान आधारित स्कीम्स के तहत दो स्कीम्स आएगी- रिटायरमेंट फंड, चिल्ड्रेन्स फंड
-अन्य स्कीम्स के तहत दो स्कीम्स आएगी- इंडेक्स फंड्स/ईटीएफ्स, फंड ऑफ फंड्स (विदेशी/घरेलू)
-सेबी ने म्युचुअल फंड स्कीम के तहत लार्ज कैप, मिड कैप और स्मॉल कैप को पहली बार परिभाषिक किया है
-मार्केट कैप के हिसाब से टॉप 100 में शामिल कंपनियों को लार्ज कैप, मार्केट कैप के हिसाब से 101 वें से 250 वें
पायदान में शामिल कंपनियों को मिड कैप और मार्केट कैप के हिसाब से 251 वें पायदान के बाद वाली कंपनियों को स्मॉल कैप में रखा गया है। 
>डेट स्कीम्स के तहत आने वाली अलग-अलग स्कीम्स में कितने समय तक (यानी मैच्योरिटी) निवेश कर सकते हैं-
-ओवरनाइट फंड: 1 दिन में
-लिक्विंड फंड:     91 दिनों तक
-अल्ट्रा शॉर्ट ड्यूरेशन फंड: 3 महीने-6 महीने तक
-लो ड्यूरेशन फंड: 6 महीने-एक साल 
-मनी मार्केट फंड:  एक साल तक 
-शॉर्ट ड्यूरेशन फंड: 1 साल से 3 साल तक 
-मीडियम ड्यूरेशन फंड:  3 साल से 4 साल तक 
-मीडियम टू लांग ड्यूरेशन फंड: 4 साल से 7 साल तक 
-लांग ड्यूरेशन फंड: 7 साल से अधिक 
-डायनामिक और गिल्ट फंड- सभी अवधियों के लिए

>इक्विटी स्कीम्स:
Sr.No
Category Of Schemes
Scheme  characteristics
Type of Scheme (Uniform Description of Scheme)
1
Multi Cap Fund

Minimum   investment   in   equity   & equity  related  instruments-65%  of
total assets

Multi   Cap   Fund-An   open ended equity scheme investing
across large   cap,   mid   cap, small cap stocks

2
Large Cap Fund
Minimum   investment   in   equity   & equity  related  instruments  of  large
cap companies - 80% of total assets

Large   Cap   Fund
-An   open ended
equity scheme
predominantly     investing     in
large cap stocks

3
Large and Mid Cap Fund
Minimum   investment   in   equity   & equity  related  instruments  of  large
cap companies-
35% of total assets
Minimum   investment   in   equity   & equity  related  instruments  of  mid cap stocks-
35 % of total assets

Large  &  Mid
Cap  Fund
-       An
open   ended   equity   scheme investing in both large cap and
mid cap stocks

4
Mid Cap Fund
Minimum   investment   in   equity   & equity  related  instruments  of  mid
cap companies -
65% of total assets

Mid Cap Fund
-An open ended
equity  scheme  predominantly
investing in mid cap stocks

5
Small Cap Fund
Minimum   investment   in   equity   & equity  related  instruments  of  small
cap companies-  65% of total assets

Small   Cap   Fund
-       An   open
ended  equity
scheme predominantly     investing     in
small  cap stocks

6
Dividend Yield Fund
Scheme  should
predominantly invest in dividend yielding stocks.Minimum investment in equity
-       65% of total assets


An open ended equity scheme predominantly     investing     in
dividend yielding stocks

7
Fund Value*
Scheme should   follow   a   value investment strategy.
Minimum   investment   in   equity   & equity related instruments -65% of
total assets

An open ended equity scheme following   a   value   investment
strategy


Contra Value*
Scheme  should  follow  a  contrarian investment
strategy.Minimum   investment   in   equity   & equity related instruments -65% of total assets

An open ended
equity scheme
following contrarian investment
strategy

8
Focused Fund

A scheme focused on the number of stocks (maximum 30)
Minimum   investment   in
equity   & equity related instruments
-65% of total assets

An open ended equity scheme investing    in
maximum30
stocks   (mention
where the
scheme  intends  to  focus, viz., multi  cap,  large  cap,  mid  cap,  small cap)


9
Sectoral/Thematic
Minimum   investment   in   equity   & equity   related   instruments   of   a particular  sector/  particular  theme
-80% of total assets

An open ended equity scheme investing in __ sector (mention
the sector)/ An open ended equity scheme
following   __   theme   (mention the theme)

10
ELSS
Minimum   investment   in   equity   & equity related instruments
-80% of total   assets   (in   accordance   with Equity Linked Saving Scheme, 2005 notified by Ministry of Finance)

An  open  ended  equity  linked
saving scheme with a statutory lock   in   of   3 years   and   tax
benefit

* Mutual Funds will be permitted to offer either Value fund or Contra fund.

>Debt Schemes:
Sr No
Category Of Schemes
Scheme Characteristics
Type Of Scheme (Uniform Description Of Scheme)
1
Overnight Fund**
Investment  in  overnight  securities having maturity of 1 day

An  open  ended  debt  scheme investing in overnight securities

2
Liquid Fund$**
Investment  in  Debt    and  money market  securities  with  maturity  of upto 91 days only

An open ended liquid scheme

3
Ultra Short
Duration Fund

Investment in Debt & Money Market
instruments such that the Macaulay duration  of  the  portfolio  is  between
3 months -6 months

An open ended ultra-
short term debt    scheme    investing    in instruments     with     Macaulay duration between 3 months and
6 months (please refer to page
no.__)
#

4
Low Duration
Fund

Investment in Debt & Money Market instruments such that the Macaulay
duration  of  the  portfolio
is  between 6 months
-12 months

An  open  ended  low  duration
debt    scheme    investing    in
instruments     with    Macaulay
duration between 6 months and 12   months   (please   refer   to page no.__)

5
Money Market Fund
Investment     in     Money     Market instruments  having  maturity  upto  1 year

An  open  ended  debt  scheme investing    in    money    market instruments

6
Short
Duration
Fund

Investment in Debt & Money Market instruments such that the Macaulay
duration  of  the  portfolio  is  between 1 year
      3 years

An open ended short term debt scheme investing
in instruments     with     Macaulay duration
between 1 year and 3
years (please   refer   to   page
no.__)

7
Medium Duration Fund
Investment in Debt & Money Market instruments such that the  Macaulay
duration  of  the  portfolio  is  between 3 years–4 years

An  open  ended  medium  term
debt    scheme    investing    in
instruments     with
Macaulay duration between 3 years and 4 years (please refer to page no_)#

8
Medium
to  Long
Duration Fund

Investment in Debt & Money Market  instruments such that the Macaulay
duration  of  the  portfolio  is  between 4 –7 years

An  open  ended  medium  term debt    scheme    investing    in instruments     with     Macaulay
duration between 4 years and 7 years (please   refer   to   page no.__)

9
Long Duration
Fund

Investment in Debt & Money Market
Instruments such that the
Macaulay duration  of  the  portfolio is greater
than 7 years

An  open  ended    debt  scheme investing   in instruments   with Macaulay duration greater than
7  years (please  refer  to  page no.__)

10
Dynamic Bond

Investment across duration

An  open  ended  dynamic  debt scheme investing
across duration

11
Corporate   Bond
Fund

Minimum  investment  in  corporate bonds
-80%  of total  assets  (only  in highest rated instruments)

An  open  ended  debt  scheme predominantly     investing     in highest rated corporate bonds

12
Credit Risk
Fund
^

Minimum  investment  in  corporate bonds
-65%of     total     assets
(investment  in
below  highest  rated
instruments)

An  open  ended  debt  scheme investing in
below highest rated
corporate bonds

13
Banking and
PSU Fund

Minimum     investment     in     Debt instruments of banks, Public Sector
Undertakings, Public
Financial Institutions
-80% of total assets

An  open  ended  debt  scheme predominantly investing in Debt
instruments   of   banks,  Public Sector    Undertakings,   Public Financial Institutions

14
Gilt Fund

Minimum investment in Gsecs-80%
of total assets (across maturity) 

An open  ended  debt  scheme
investing in  government
securities across maturity

15
Gilt Fund with 10
year constant
duration

Minimum investment in Gsecs-80% of    total    assets    such    that    the
Macaulay duration of the portfolio is equal to 10
years

An open  ended  debt  scheme
investing in government
securities   having   a   constant maturity
of 10 years

16
Floater Fund

Minimum investment in floating rate
instruments
-65% of total assets

An  open  ended
debt  scheme
predominantly     investing     in floating
rate instruments


**Provisions of SEBI Circular No SEBI/IMD/DF/19/2010 dated November 26, 2010 shall be followed for  Uniform  cut-off  timings  for  applicability  of  Net  Asset  Value  in  respect  of  Liquid  Fund  and Overnight Fund.


$
All provisions mentioned in SEBI circular SEBI/IMD/CIR No.13/150975/09 dated January 19, 2009 in respect of liquid schemes shall be applicable

# Please  refer  to  the  page  number of  the  Offer  Document on which the concept of Macaulay’s Duration has been explained

^Words/ phrases that highlight / emphasizeonly the return aspect of the scheme shall not be used in  the  name  of  the  scheme (for  instance  Credit  Opportunities  Fund,High  Yield  Fund
,  Credit Advantage etc.)


>Hybrid Scheme:
Sr  No
Category Of Schemes
Scheme Characteristics
Type Of Scheme (Uniform Description of Scheme)
1
Conservative Hybrid Fund

Investment in equity & equity related  instruments
-between 10% and 25%
of total assets; Investment   in   Debt   instruments
-between   75%   and   90%   of   total assets

An open ended hybrid scheme investing predominantly in debt instruments

2
Balanced Hybrid
Fund @

Equity & Equity related instruments-between  40%    and  60%  of  total
assets; Debt   instruments
-between   40% and 60% of total assets
No Arbitrage would be permitted in this scheme

An    open    ended    balanced  scheme investing in equity and
debt instruments


Aggressive Hybrid Fund@

Equity & Equity related instruments-between   65%   and   80%   of   total
assets; Debt   instruments
-between 20% and 35% of total assets

An open ended hybrid scheme investing     predominantly     in
equity    and    equity    related instruments

3
Dynamic    Asset
Allocation or
Balanced Advantage

Investment  in  equity/  debt  that  is managed dynamically

An open ended dynamic asset allocation fund

4
Multi Asset Allocation
##

Invests   in at   least   three   asset classes  with  a  minimum  allocation of  at least  10%  each  in  all  three asset classes

An     open     ended     scheme investing in __, __, __ (mention the     three    different     asset classes)

5
Arbitrage Fund

Scheme following   arbitrage strategy.   Minimum investment   in equity & equity related instruments
-65% of total assets

An     open     ended     scheme investing
in arbitrage opportunities

6
Equity Savings

Minimum   investment   in   equity   & equity  related  instruments-65% of
total assets and minimum
investment  in  debt -
10%  of  total assets
Minimum hedged & unhedged to be
stated in the SID. Asset   Allocation   under   defensive
considerations  may  also  be  stated in the Offer Document


An     open     ended     scheme  investing   in   equity,   arbitrage
and debt

SID: Scheme Information Document
@
Mutual Funds will be permitted to offer either an Aggressive Hybrid fund or Balanced
fund

## Foreign securities will not be treated as a separate asset class


>Solution Oriented Schemes:
Sr No
Category of Schemes
Scheme Characteristics
Type Of Scheme (Uniform Description of Scheme)
1
Retirement Fund

Scheme having a lock
-in for at least 5   years   or   till   Retirement   age
whichever is earlier

An    open    ended    retirement solution
oriented scheme
having a lock -
in of 5 years
or till retirement  age
(whichever  is
earlier)

2
Children’s Fund

Scheme having a lock
-in for at least 5 years or till the child attains age of majority (बालिग होने की उम्र) whichever is earlier


An    open    ended    fund    for investment  for  children  having a lock - in
for at least 5 years or
till   the   child
attains   age   of
majority (whichever is earlier)


>Others Schemes:
Sr No
Category of Schemes
Scheme Characteristics
Type Of Scheme (Uniform Description of Scheme)
1
Index Funds/
ETFs

Minimum investment in  securities of a  particular  index  (which  is  being
replicated/  tracked)
-95%  of  total assets

An     open     ended     scheme replicating/ tracking _ index

2
FoFs  (Overseas/
Domestic)

Minimum
investment
in the underlying fund-
95% of total assets


An  open  ended  fund  of  fund scheme  investing  in  ___  fund
(mention the underlying fund)


>निवेशकों के लिए बदलाव कितना फायदेमंद, कितना नुकसानदेह: 
अब सवाल है कि निवेशकों के लिए इस बदलाव के क्या मायने हैं। जानकारों को लेकर इस बारे में अलग-अलग राय हो सकती है लेकिन म्युचुअल फंड स्कीम के वर्गीकरण से कई बदलाव आने की उम्मीद है,जिससे आम निवेशकों को जरूर फायदा होगा। सारे जानकार भी सेबी के इस फैसले का स्वागत कर रहे हैं।

-सबसे पहले म्युचुअल फंड के इतिहास में पहली बार स्कीम्स का वर्गीकरण हो रहा है। इससे हर स्कीम का नफा-नुकसान समझना निवेशकों के लिए आसान होगा। पहले म्युचुअल फंड के बहुत सारे प्रोडक्ट हुआ करते थे, उलझाने वाला नाम हुआ करता था, कौन सा प्रोडक्ट किस जरूरत और किस तरह के निवेशकों के लिए है, यह समझना काफी जटिल था, लेकिन अब यह सब समझने में काफी आसानी होगी।  पहले समान कैटेगरी वाला फंड्स ढूंढना और उनकी आपस में तुलना करना भारी काम था, लेकिन अब यह काम एक दम आसान हो जाएगा। म्युचुअल फंड स्कीम्स के संदर्भ में लार्ज कैप, मिड कैप, स्मॉल कैप कंपनियों को परिभाषित करने का कोई आधार नहीं था, लेकिन अब सेबी ने साफ-साफ इनको परिभाषित कर दिया है। 

-म्युचुअल फंड स्कीम्स की संख्या में कमी आएगी और स्कीम्स के विकल्पों का सरलीकरण किया जा सकेगा। मसलन, अब इक्विटी, डेट, हाइब्रिड, समाधान आधारित और अन्य फंड के तहत ही स्कीम्स लॉन्च किया जा सकेंगे। इसमें भी इक्विटी के तहत 10 तरह की स्कीम्स, डेट के तहत 16 तरह की स्कीम्स, हाइब्रिड के तहत 6 तरह की स्कीम्स जबकि समाधान आधारित और अन्य के तहत 2-2 तरह की स्कीम्स लॉन्च किया जा सकेगा। 

-अब फंड हाउस निवेशकों से जिस स्कीम के नाम पर पैसे लेगा, उसी में पैसा लगा सकेगा। जैसे इंश्योरेंस स्कीम्स के साथ होता है। फंड मैनेजर अब निवेशकों से पैसे लेने के बाद स्कीम्स बगैरह में बदलाव नहीं कर सकेंगे, जबतक निवेशक उन्हें ऐसा करने के लिए ना कहे। 

-समान कैटेगरी वाली स्कीम्स की तुलना करना अब आसान हो जाएगा।  जब भी हमारे सामने कई विकल्प होते हैं, तो अक्सर हम उस कैटेगरी के विकल्पों के बीच तुलना करते हैं और हमारे लिए बेहतर होते हैं, उसे हम पसंद करते हैं। म्युचुअल फंड्स स्कीम्स में पहले स्पष्ट वर्गीकरण नहीं होने से निवेशकों के पास समान कैटेगरी वाली स्कीम्स की तुलना करने के कम मौके थे लेकिन जब वर्गीकरण स्पष्ट हो जाएगा तो विकल्पों की तुलना करना आसान हो जाएगा। अब अलग-अलग फंड हाउसेस की स्कीम्स के नाम भले ही अलग होंगे लेकिन समान कैटेगरी वाली स्कीम्स की विशेषता तो एक जैसी ही होगी, इसलिए अब निवेशक उनमें से अपने लिए बेहतर विकल्प चुन सकते हैं।  


म्युचुअल फंड के बदल गए नियम, बदलाव से निवेशकों को फायदा या नुकसान, जानें विस्तार से  

((म्युचुअल फंड: डायरेक्ट प्लान या रेगुलर प्लान-फायदेमंद कौन?
                                                                            ((लिक्विड फंड (LiquidFund):जोखिम (रिस्क) कम, तरलता ( Liquidity)ज्यादा, सेविंग्स बैंक अकाउंट जैसा फायदा 

बैंकों की तरह लिक्विड फंड से भी तुरंत पैसे निकाल सकेंगे, सेबी ने जारी की गाइडलाइंस 

>म्युचुअल फंड में निवेश के 6 तरीके; 6 ways to invest in Mutual Fund

((ELSS में निवेश के 7 फायदे, 7 benefits of ELSS Investment
(सेबी इन्वेस्टर सर्वे 2015: निवेशक कहां जल्दी से कैश (तरलता) की उम्मीद करते हैं-म्युचुअल फंड्स, इक्विटीज, डिबेंचर्स, कमोडिटी फ्यूचर्स, डेरिवेटिव्स?

(सेबी इन्वेस्टर सर्वे 2015: निवेशक कहां ज्यादा रिटर्न की उम्मीद करते हैं-कमोडिटी फ्यूचर्स, डेरिवेटिव्स, डिबेंचर्स,  इक्विटीज या  म्युचुअल फंड्स ?

(सेबी इन्वेस्टर सर्वे 2015: बॉन्ड्स, इक्विटीज, म्युचुअल फंड्स में से किसको सबसे ज्यादा सुरक्षित मानते हैं निवेशक ?
(सेबी इन्वेस्टर सर्वे 2015: म्युचुअल फंड्स (MF) के Scheme Information Document (एसआईडी) कौन सा 
हिस्सा निवेशक सबसे ज्यादा पढ़ते हैं?
(सेबी इन्वेस्टर सर्वे 2015: म्युचुअल फंड्स (MF) में निवेश करने का सबसे महत्वपूर्ण जरिया क्या है?
(सेबी इन्वेस्टर सर्वे 2015: म्युचुअल फंड्स (MF) के बारे में जानकारी कहां-कहां से लेते हैं निवेशक? 
(सेबी इन्वेस्टर सर्वे 2015: म्युचुअल फंड्स (MF)में कितने दिनों तक निवेशित रहते हैं?
(सेबी इन्वेस्टर सर्वे 2015: म्युचुअल फंड्स (MF) के निवेशकों का व्यवहार और निवेश पैटर्न
Alternative Investment Funds(वैकल्पिक निवेश कोषों-एआईएफ) क्या होते हैं 

((Mutual Fund Ki Mehfil:Part-1:What Is Mutual Fund  
म्युचुअल फंड की महफिल: भाग-1: म्युचुअल फंड क्या है

((Mutual Fund Ki Mehfil:Part-2: Investment of Mutual Fund 
म्युचुअल फंड की महफिल: भाग-2: म्युचुअल फंड का कहां निवेश होता है

((Mutual Fund Ki Mehfil:Part-3:Benefits of Investment in Mutual Fund 
म्युचुअल फंड की महफिल: भाग-3: म्युचुअल फंड में निवेश के फायदे

((म्युचुअल फंड की महफिल: भाग-4: म्युचुअल फंड में निवेश किसके जरिये करें 

((Mutual Fund Ki Mehfil:Part-5: Role of MF Trustee
((म्युचुअल फंड की महफिल: भाग-5: म्युचुअल फंड ट्रस्टी की भूमिका 

((Mutual Fund Ki Mehfil:Part-6: What Is Asset Management Company
((म्युचुअल फंड की महफिल: भाग-6: परिसंपत्ति प्रबंधन कंपनी (AMC) का क्या काम है)
((म्युचुअल फंड की महफिल: भाग-7: एनएवी क्या है 
((म्युचुअल फंड की महफिल: भाग-8: ऑफर डॉक्यूमेंट, क्लोज्ड एंडेड फंड के बारे में जानें
((म्युचुअल फंड की महफिल: भाग-9: ओपन एंडेड फंड के बारे में जानें
((म्युचुअल फंड की महफिल: भाग-10: रिडेंप्शम मूल्य, पुनर्खरीद मूल्य क्या है


((बच्चों की पढ़ाई-लिखाई में महंगाई विलेन बने, तो क्या करें 
म्युचुअल फंड में पैसे लगाएं, बच्चों की पढ़ाई-लिखाई के तनाव से बचें   
((म्युचुअल फंड में पैसे लगाइए, टैक्स बचाइए; जानें क्यों और कैसे होगा फायदा 
((म्युचुअल फंड के जरिए फाइनेंशियल प्लानिंग पूरी करें
((म्युचुअल फंड: क्यों है निवेश का सबसे बेहतर जरिया: भाग-1
((म्युचुअल फंड: क्यों है निवेश का सबसे बेहतर जरिया: भाग-2
(म्युचुअल फंड के जरिए महिलाओं को कैसे मिलेगी आर्थिक आजादी? 
((रिटायरमेंट फंड बनाएं, म्युचुअल फंड की मदद से  
((What Is FMPs (Fixed Maturity Plans)
एफएमपी (फिक्स्ड मैच्योरिटी प्लान्स) क्या है
((म्युचुअल फंड कंपनियों की सूची
((टीचर हैं तो क्या हुआ, फाइनेंशियल प्लानिंग करना तो, बनता है बॉस
((डॉक्टर कैसे ठीक रखें फाइनेंशियल सेहत 
((शादी की खुशी में फाइनेंशियल प्लानिंग करना कहीं भूल तो नहीं गए
((म्युचुअल फंड के जरिए महिलाओं को कैसे मिलेगी आर्थिक आजादी? 
((रिटायरमेंट फंड बनाएं, म्युचुअल फंड की मदद से  
((म्युचुअल फंड क्या है, इसमें निवेश के 10 फायदे... What is Mutual Fund, 10 Benefiेts of MF Investment
> म्युचुअल फंड से जुड़ी और जानकारी के लिए नीचे दिए गए लिंक पर जाएं............
((म्युचुअल फंड की महफिल: भाग-12: जानें बैलेंस्ड फंड, फंड ऑफ फंड्स, टैक्स सेवर फंड्स के बारे में 
((म्युचुअल फंड की महफिल: भाग-11: फोलियो नंबर के बारे में जानें
((म्युचुअल फंड की महफिल: भाग-9: ओपन एंडेड फंड के बारे में जानें
((म्युचुअल फंड की महफिल: भाग-8: ऑफर डॉक्यूमेंट, क्लोज्ड एंडेड फंड के बारे में जानें
((म्युचुअल फंड की महफिल: भाग-7: एनएवी क्या है 
((म्युचुअल फंड क्या है, इसमें निवेश के 10 फायदे...
((फाइनेंस का फंडा: भाग-8, AMFI के बारे में जानें 
(फाइनेंस का फंडा: भाग-22, SEBI की जरूरत क्यों 
((म्युचुअल फंड की महफिल: भाग-6: परिसंपत्ति प्रबंधन कंपनी (AMC) का क्या काम है)
((म्युचुअल फंड की महफिल: भाग-5: म्युचुअल फंड ट्रस्टी की भूमिका
((म्युचुअल फंड की महफिल: भाग-4: म्युचुअल फंड में निवेश किसके जरिये करें
((म्युचुअल फंड में पैसे लगाएं, बच्चों की पढ़ाई-लिखाई के तनाव से बचें 
((म्युचुअल फंड की महफिल: भाग-3: म्युचुअल फंड में निवेश के फायदे
((म्युचुअल फंड में पैसे लगाइए, टैक्स बचाइए; जानें क्यों और कैसे होगा फायदा 
((म्युचुअल फंड में पैसे लगाइए, टैक्स बचाइए; जानें क्यों और कैसे होगा फायदा 
((म्युचुअल फंड के जरिए फाइनेंशियल प्लानिंग पूरी करें
((म्युचुअल फंड: क्यों है निवेश का सबसे बेहतर जरिया: भाग-1
((म्युचुअल फंड: क्यों है निवेश का सबसे बेहतर जरिया: भाग-2
(म्युचुअल फंड के जरिए महिलाओं को कैसे मिलेगी आर्थिक आजादी? 
((रिटायरमेंट फंड बनाएं, म्युचुअल फंड की मदद से  
(एफएमपी (फिक्स्ड मैच्योरिटी प्लान्स) क्या है
((म्युचुअल फंड कंपनियों की सूची
((टीचर हैं तो क्या हुआ, फाइनेंशियल प्लानिंग करना तो, बनता है बॉस
((डॉक्टर कैसे ठीक रखें फाइनेंशियल सेहत 
((शादी की खुशी में फाइनेंशियल प्लानिंग करना कहीं भूल तो नहीं गए
((म्युचुअल फंड के जरिए महिलाओं को कैसे मिलेगी आर्थिक आजादी? 
((रिटायरमेंट फंड बनाएं, म्युचुअल फंड की मदद से  
((चाइल्ड के लिए अभी से करें प्लान, तभी बनी रहेगी उसकी मुस्कान
((बच्चों से है प्यार, तो उनके लिए रखें फाइनेंशियल प्लान तैयार
(('Money मित्र' बनकर दें बच्चों को लाड़-प्यार  

('बिना प्रोफेशनल ट्रेनिंग के शेयर बाजार जरूर जुआ है'
((शेयर बाजार: जब तक सीखेंगे नहीं, तबतक पैसे बनेंगे नहीं! 
((जानें वो आंकड़े-सूचना-सरकारी फैसले और खबर, जो शेयर मार्केट पर डालते हैं असर
((ये दिसंबर तिमाही को कुछ Q2, कुछ Q3 तो कुछ Q4 क्यों बताते हैं ?
((कैसे करें शेयर बाजार में एंट्री 
((सामान खरीदने जैसा आसान है शेयर बाजार में पैसे लगाना
((खुद का खर्च कैसे मैनेज करें? 
((मेरा कविता संग्रह "जब सपने बन जाते हैं मार्गदर्शक"खरीदने के लिए क्लिक करें 

Plz Follow Me on: 
((फाइनेंशियल फ्रीडम (आर्थिक आजादी)-कैसे हासिल करें; Economic or Financial Freedom-How to enjoy 

No comments