क्या करें महिलाएं, अगर निवेश और फाइनेंस की बेसिक जानकारी ना हो ?

सदियों से घर के मुखिया भले ही पुरुष रहे हों, लेकिन होम मिनिस्टर की भूमिका तो महिलाएं ही निभाती आ रहीं हैं। बात चाहे घर का बजट बनाने की हो, रोजमर्रे का खर्च चलाने की हो या फिर बच्चे-फैमिली की जरूरत पूरी करने की, हर काम का जिम्मा महिलाएं ही संभालती हैं। बावजुद इसके अगर उनसे निवेश या फाइनेंशियल प्लानिंग से जुड़े कुछ सवाल पूछेंगे, तो शायद कम ही महिलाएं उन सवालों का संतोषजनक जवाब दे पाएंगी। इस  मामले महिलाएं अपने पुरुष सदस्य से खुद को अलग रखना पसंद करती हैं।

जानकारों के मुताबिक, महिलाओं को भी पैसों के रखरखाव, निवेश, इंश्योरेंस, बचत, एफडी, म्युचुअल फंड, फाइनेंशियल प्लानिंग की बेसिक्स के बारे में जरूर सीखना चाहिए। फाइनेंस और निवेश के मामले में खुद को अलग-थलग रखना उनके लिए कई बार काफी नुकसानदेह साबित होता है, खासकर किसी वजह से जब उनको अपने परिवार से जबरन अलग रहना पड़े। ऐसे में अगर महिलाओं को फाइनेंस और निवेश के बारे में जानकारी नहीं रहेगी, तो उनको दिक्कत हो सकती है। और अगर बच्चे हैं, तो फिर उनके मौजूदा और भविष्य की जरूरतों को पूरा करने के लिए फाइनेंशियल प्लानिंग की जरूरत तो पड़ेगी ही। तो चलिए बताते हैं कि महिलाओं को निवेश की बेसिक्स के अंतर्गत क्या-क्या बातें सीखनी चाहिए:

> लांग टर्म निवेश के लिए टिप्स: 
-बचत और निवेश के बारे में अनुशासित सोच होनी चाहिए
-जिसके लिए आप निवेश कर रहीं हैं, उसके वित्तीय लक्ष्य
(Financial Goals) मसलन, अगले कुछ साल में खुद का
घर लेना है या फिर बच्चों का उच्चतर शिक्षा है या फिर बच्चों की शादी
करनी है, या फिर रिटायरमेंट फंड के लिए बगैरह-बगैरह के बारे
में स्पष्टता होनी चाहिए
-वित्तीय लक्ष्य को हासिल करने के लिए समय सीमा तय करना
जरूरी है, मसलन अगले 5 साल में घर लेना है, अगले 15 साल
में बच्चों को किसी प्रफेशनल कोर्स में प्रवेश दिलाना है, अगले 35
साल में रिटायर होना है बगैरह-बगैरह।
-छोटी अवधि में शेयर बाजार में गिरावट से घबराएं नहीं। याद रखें
आपका निवेश लंबी अवधि के लिए है।
-म्युचुअल फंड में निवेश के दौरान सिस्टैमिक इन्वेस्टमेंट प्लान ( SIPs)
पर भरोसा रखें।  

> सिगंल मदर के लिए मनी मंत्र: 
-अपने पैसों के रख-रखाव के लिए अपने रिश्तेदार को तरजीह ना दें
-अगर निवेश और बचत के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है, तो
अपने पैसों को किसी अच्छे बैंक की फिक्स्ड डिपॉजिट स्कीम में निवेश करें।
-फिक्स्ड डिपॉजिट में आपका पैसा सुरक्षित भी रहेगा और बढ़ता भी रहेगा।
तब तक कुछ समय निवेश और फाइनेंशियल प्लानिंग की बेसिक्स सीखने
में दें।
-फाइनेंशियल प्लानिंग को समझें और अगर इसके लिए किसी फाइनेंशियल
सलाहकार की जरूरत हो, तो मामूली फीस चुकाकर सीखने में कोई
हर्ज नहीं है।
-निवेश की बेसिक्स सीखने के बाद एफडी में जमा पैसों को निकालकर या
अपनी आमदनी से बचाए पैसों को दूसरे निवेश इंस्ट्रूमेंट मसलन, म्युचुअल फंड,
इंश्योरेंस, सोना, प्रॉपर्टी बगैरह में अपने लक्ष्य और जरूरत के मुताबिक निवेश
करना शुरू कर दीजिए।

>अच्छे फाइनेंशियल प्लानर कैसे चुनें
-मजबूत रेफरेंस पर भरोसा करें
-फाइनेंशियल प्लानिंग के क्षेत्र में कुछ साल का
अनुभव होना चाहिए
-फाइनेंशियल सलाहकार/ प्लानर्स की फीस या कमीशन
पता करे लें
-पता करें कि वो आपको केवल सलाह देगा या फिर आपके
फाइनेंशियल योजना को पूरे करने का काम भी करेगा
-ये भी पता करें कि क्या वो आपको फाइनेंस, निवेश, बचत
बगैरह के बारे में शिक्षित भी करेगा
       शायद ये छोटी सी जानकारी आपकी जिंदगी को बेहतर बनाने में मदद करें, लेकिन ध्यान रखें कि पैसों के बारे में कोई भी फैसला आप खुद लें। आपका फाइनेंशियल लक्ष्य, आपकी आर्थिक स्थिति, आपकी जरूरत आपसे बेहतर कोई नहीं जानता, इसलिए निवेश के बारे में अंतिम फैसले पर केवल और केवल आपका अधिकार होना चाहिए... Always beyourmoneymanager... 

फाइनेंशियल प्लानिंग पर और पढ़ें:  

((छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दरें 1 अप्रैल, 2016 से हर तिमाही तय की जाएंगी
((अलग-अलग इन्वेस्टमेंट इंस्ट्रूमेंट्स (निवेश साधन) क्या होते हैं ?
((बैंक FD, सेविंग्स डिपॉजिट से बेहतर क्यों है लिक्विड फंड
((फर्जी निवेश स्कीम में नहीं फंसेंगे, अगर ये फॉर्मूला अपनाएंगे
आपका पैसा दोगुना, तिगुना, चार गुना कब होगा, ये फॉर्मूला बताएगा...

((क्या है निवेश का '100-उम्र' फॉर्मूला? 
((शेयर बाजार और डेट (FD, बॉण्ड) में कितना-कितना पैसा लगाएं

((निवेश को नुकसान से बचाना है तो 5 गलतियों से बचें


((बचत करूं या करूं निवेश, कौन देगा ज्यादा फाइनेंशियल कॉन्फिडेंस

((60 साल की उम्र में करोड़पति बनने के लिए क्या करें

((आपका पैसा कब होगा दुगुना, जानें इस फॉर्मूला से 
72 का नियम याद रखें, आपको बनाएगा मालामाल

((डिपॉजिट्स पर ब्याज घटे, अब कहां हैं ज्यादा कमाई के सुरक्षित मौक; भाग-1 

((डिपॉजिट्स पर ब्याज घटे, अब कहां हैं ज्यादा कमाई के सुरक्षित मौक; भाग-2

((आपने KYC डीटेल्स अपडेट किया या नहीं...

((ऐसे E-mails/SMSs/Calls से बचेंगे, तो नहीं पछताएंगे

((लोन पर घर, जेब खाली, डिफॉल्टर होने से कैसे बचेंगे ?

((खतरे में आपका बटुआ, कैसे बचायेंगे ?

((क्या होम लोन ट्रांसफर करने का सही वक्त है...

((अब बैंक कर्ज सस्ता करने में मनमानी नहीं कर सकेंगे !

((कहीं आपका भी पैसा PF,LIC में तो  बेकार नहीं पड़ा है 
((आपके पैसे पर पहला हक आपका होना चाहिए

((बड़े फायदे हैं छोटी बचत के
((छोटी बचत, बड़े फायदे

((ट्रेजरी बिल्स (टी-बिल्स) क्या है

((सर्टिफेकेट ऑफ डिपॉजिट्स के बारे में जानें 

Plz Follow Me on: 

No comments